BadlapurCoronaJaunpurUttar Pradesh

#Badlapur| जब स्कूल मे रात को हुए क्वारंटाईन लोग सुबह हो गये गायब,गांव मे फैली दहसत ।

0 0
Read Time:2 Minute, 57 Second
संवाददाता : सुनील मिश्रा

महराजगंज/जौनपुर : इस भयंकर महामारी में जहां परदेशी लोग बाहर से आकर स्वयं अपने आप को परिवार गांव और क्षेत्र को सुरक्षित रखने के लिए खुद प्रशासन को सूचित कर नजदीक स्कूलों में खुद को क्वारंटाईन कर दे रहे है जिससे मन मे भय और महामारी से जरा सा भी गलत टच न हो और भविष्य सुरक्षित रहे।

लेकिन इसी के ठीक विपरीत महराजगंज विकासखण्ड क्षेत्र के “लमहन और गोन्दालपुर” मे रोज बीस पच्चीस लोग महाराष्ट्र दिल्ली ,गुजरात, पुना,आदि जगहों से आरहे और उनकी खबर लेनेवाले कोई नही ह,कोई कोई चेकप करवाकर प्राईमरी पाठशालाओं में रूकने के लिए भेज दिए जा रहे हैं। लेकिन वो लोग रात मे रूक कर सुबह के पहले ही कब भाग गए किसी को पता नहीं।

खबरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें :-7800292090

स्कूल में रोकनेके के लिए परदेशीयों की सिर्फ स्क्रीनिंग कर भेज दिया जा रहा है। जांच कराने के बाद प्रवासी लोग गांव में पहुंचते ही अपने आपको शक्तिमान समझकर घूम रहे हैं।

इन लोगों की जिम्मेदारी लिए लेखपाल और प्रधान को जरा सी गांव की चिंता नही भगवान न करे ऐसा हो पर किसी को दुर्भाग्य से कोरोना पाजिटिव निकल आया तो घर परिवार तो लेजाएंगे साथ में पूरा गांव सरमेट लेगें। इन लोगों की क्वारेंटाइन करने के लिये सिर्फ खानापूर्ति हो रही है इस वजह से क्वारेंटाइन करने के बाद भी लोग गांव में घूम रहे हैं।

अगर समय रहते प्रशासन ने नहीं चेता तो संक्रमण की संख्या बहुत ज्यादा हो सकती है।और तब संक्रमण कंट्रोल करना सायद बहुत मुश्किल हो जाएगी लेकिन तब तक बहुत देर हो चूकी होगी।

आलम यह कि सैकड़ों लोग आए हुए हैं एक एक गांव में लेकिन गांव की जिम्मेदारी पानेवाले हल्का लेखपाल और प्रधान की लापरवाही और नरमी के कारण स्कूल में सिर्फ एक और दो नए लोग बचे हैं बाकी शक्तिमान बन कर इधरउधर धडल्ले से घूम रहे और घर पर आवभगत करवा रहे हैं। और गांव के लोग भयजदा अपने आप को बचा रहे है लेकिन फिर भी कहा तक बचेंगे, अब अल्लाह ही माफ करे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Articles

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button