JaunpurUttar Pradesh

जौनपुर : अपनी पहचान खो रही कुंवर नदी को मूल स्वरूप में लाने की तैयारियां शुरू !

0 0
Read Time:2 Minute, 30 Second
जौनपुर। अस्तित्व खो रही कुंवर नदी के 57 किमी क्षेत्र को उसके मूल स्वरूप में लाने की तैयारियां शुरू कर दी गई है। इस मेगा प्रोजेक्ट का पूरा खाका पहले ही खींचा जा चुका है, जिसे अमली जामा पहनाने को सीडीओ अनुपम शुक्ला व उपायुक्त मनरेगा भूपेंद्र सिंह शाहगंज ब्लाक के अर्गुपुर खुर्द व मदरहां गांव पहुंचे।
दोनों ही गांव में 650 श्रमिक नदी के पुनरोद्धार कार्य में लग गए हैं। जल्द ही कोपा, परासिन व छभवां समेत अन्य गांवों में कार्य शुरू कराया जाएगा। सीडीओ ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि कार्य शारीरिक दूरी के पालन व प्रावधान के हिसाब से ही कार्य किया जाय। साथ ही नदी के प्रवाह को भी बनाए रखने को लेकर जरूरी निर्देश दिया गया।जौनपुर-अस्तित्व-खो-रही-कुंवर-नदी-को-मूल-स्वरूप.jpg
इस नदी के अस्तित्व में आने के बाद बीस ग्राम पंचायतों को इसका लाभ मिलेगा। सुईथाकला ब्लाक की 11 ग्राम पंचायतें, जबकि शाहगंज ब्लाक की नौ ग्राम पंचायतों से होते हुए यह नदी गुजरी है। ऐसे में पांच हजार से अधिक किसानों को सहूलियत होगी।
जगह-जगह चेकडैम भी बनाए जाने से किसानों को जहां सुविधा होगी, वहीं आस-पास क्षेत्र का जलस्तर भी बढ़ सकेगा। भू-जल दोहन की वजह से पानी लगातार पाताल में समा रहा है। यही वजह है कि कई स्थानों पर कुएं ही नहीं, बल्कि हैंडपंप भी सूख रहे हैं। मनरेगा से नाली और खड़ंजे का निर्माण अब पुरानी बात हो चुकी है। सरकार ने अब इसके स्वरूप में विस्तार करते हुए इसके तहत विलुप्त हो रही नदियों के पुनरोद्घार में भी इसे लगाने का निर्णय लिया है। यह अभियान भी उसी का हिस्सा है। इस पूरे प्रोजेक्ट में पांच करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Articles

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button