Badlapur

हिंदुस्तान जिंदाबाद व् तिरंगे के साथ मनाया गया मुहर्रम ।

0 0
Read Time:3 Minute, 0 Second



खबरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें :-7800292090

जौनपुर/बदलापुर: –  नगर पंचायत बदलापुर में मुहर्रम शांति एवं सौहार्द तरीके से मनाया गया।

बदलापुर के मुस्लिम भाईयो ने ताजियों के साथ अपने देश भारत के तिरंगे को भी साथ लेकर चले ,वही हर जगह अल्लाह हु अकबर के की आवाज के साथ हिंदुस्तान जिंदाबाद के नारे लगे। हिंदुस्तान जिंदाबाद के ऊँची आवाज़ की सुनकर लोगो में एक अलग ही उत्साह देखने को मिली ।

क्षेत्र के पुरानी बाजार व विभिन्न मुस्लिम बस्तियों से मुसलमान भाई-बहन गाजे-बाजे के साथ अखाड़ा ताजिया लेकर चल रहे थे तथा हसन-हुसैन की शहादत से संबंधित गीत गा रहे थे। मोहर्रम के इस अवसर पर नगर में जगह जगह मेले का आयोजन किया गया था। मेले में लोगों की भारी भीड़ रही। मेले में चाट, जलेबी व अन्य पकवान देखने को मिले। पुरानी बाजार, भलुआही, कस्तूरीपुर, तेजी बाजार, राजा बाजार, व अन्य मुस्लिम बस्तियों के लोगो ने अपनी-अपनी ताजिया की चौकी को लेकर क्षेत्र के विभिन्न रास्तों से होते हुए नगर पंचायत बदलापुर के सरोखनपुर (वार्ड नंबर 1) में स्थित चंदन शहीद मजार पर बने कल्बले मे ताजिया की छोटी चौकीयो के उपर मिट्टी डालकर दभन कर दिया। आपको बता दे की मुहर्रम शहादत का त्यौहार माना जाता हैं इसका महत्व इस्लामिक धर्म में बहुत अधिक होता हैं. यह इस्लामिक कैलंडर का पहला महिना होता हैं इसे पूरी शिद्दत के साथ अल्लाह के बन्दों को दी जाने वाली शहादत के रूप में मनाया जाता हैं.यह पवित्र महीने रमजान के बाद पवित्र महिना माना जाता हैं. इस्लाम में भी चार महीनो को महान माना जाता हैं. मुहर्रम के दिनों में भी कई मुस्लिम उपवास करते हैं. ताजिया बाँस से बनाई जाती हैं, यह झाकियों के जैसे सजाई जाती हैं. इसमें इमाम हुसैन की कब्र को बनाकर उसे शान से दफनाने जाते हैं. इसे ही शहीदों को श्रद्धांजलि देना कहते हैं,, इसमें मातम भी मनाया जाता हैं लेकिन फक्र के साथ शहीदों को याद किया जाता हैं. यह ताजिया मुहर्रम के दस दिनों के बाद ग्यारहवे दिन निकाला जाता है,

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Articles

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button