CoronaLucknowUttar Pradesh

हालात पर पर्दा डालने से संकट कम होने की बजाए और बढ़ेगा: अखिलेश यादव

0 0
Read Time:2 Minute, 44 Second

लखनऊ। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन में केन्द्र और राज्य सरकार के राहत के तमाम वादे धरातल पर उतरते नहीं दिखाई दे रहे हैं। गरीब और मजबूर लोगों के सामने रोजी-रोटी की गम्भीर समस्या उत्पन्न हो गई है। ऐसी स्थिति में सरकार से कुछ सवाल अवश्य पूछे जाएंगे। उन्होंने कहा कि हालात पर पर्दा डालने से संकट कम होने की बजाय और बढ़ेगा।


श्री यादव ने जारी बयान में कहा है कि लॉकडाउन के फलस्वरूप अन्य राज्यों से बड़ी संख्या में लोग पलायन कर उत्तर प्रदेश में आ गए हैं। जहां-जहां वे फंसे हुए हैं। बड़ी संख्या में ये श्रमिक है जो सुदूरवर्ती क्षेत्रों में कार्यरत थे। वहां से चलते समय उन्हें मजदूरी भी नहीं मिली तो पैदल और भूखे प्यासे ही वे चल पड़े। उनके उपचार की कोई सुनियोजित व्यवस्था नहीं है। उनकी जांच भी नहीं हो रही है।


उन्होंने कहा कि किसानों को तो भाजपा सरकार में सिवाय उपेक्षा और अपमान के और कुछ मिलने वाला नहीं है। गेहूं के क्रय केन्द्र कागजों में खुले हैं। किसान को न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिला और न ही मिलने की उम्मीद है। देश में सिर्फ कोरोना वायरस के ही संक्रमण का खतरा नहीं है। तमाम लोगों को दिल, किडनी, कैंसर, लीवर जैसी गम्भीर बीमारियां है।

खबरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें :-7800292090


अस्पतालों में ओपीड़ी बंद है, आपरेशन स्थगित है। केवल सर्दी, जुकाम-खांसी और तेज ज्वर के मरीज ही देखे जा रहे हैं। इससे अन्य बीमारियों के शिकार जिनमें ज्यादातर वृद्ध है, लोगों को समय से दवा व इलाज नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि गौमाता के कथित भक्तों को इन दिनों गौमाता की चिंता नहीं है। गौशालाओं में गायों के लिए चारा नहीं है, वे भूख से तड़पकर मर रही हैं। वे अभी भी कचरे में मिले प्लास्टिक के थैले खा रही हैं। गरीबों-मजबूरों को राहत के नाम पर राशन दिए जाने का खूब प्रचार हुआ है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Articles

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button