CoronaHealthJaunpurUttar Pradesh

#Jaunpur | आरोग्य सेतु एप संक्रमित से करता है अलर्ट,आयुष कवच शरीर को मजबूत बनाने की बताता है विधा

0 0
Read Time:8 Minute, 22 Second

जौनपुर। कोरोना महामारी से निपटने के लिए केंद्र सरकार द्वारा जहां आरोग्य सेतु एप लांच किया गया जिसका उपयोग दूसरे संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर अलर्ट करना है।वहीं उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना के खिलाफ जंग में आयुष कवच ऐप लांच किया।वैश्विक महामारी कोरोना जिसकी कोई दवा नहीं बनी है उसके खिलाफ जंग में पूरी दुनिया भारत की ओर आशा भरी निगाहों से देख रही है।

आयुष विभाग द्वारा संचालित आयुष कवच ऐप भारत की योग और आयुर्वेद की प्राचीन विद्या को शरीर की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करने के लिए लोगों तक नुस्खे पहुंचाएगा।ऐप में आयुर्वेद की आवश्यकता,बेहतर जीवनशैली,रोग प्रतिरोधक क्षमता वृद्धि के स्थानीय सरल उपाय,आयुष मंत्रालय के उपाय,कोविड-19 देखभाल, विशेषज्ञ से पूछें,लाइव योग सत्र,योग तथा ध्यान वीडियो गैलरी,राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम के नंबर,आयुष कोविड-19 योद्धा के शीर्षक के तहत जानकारी दी गई है।

खबरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें :-7800292090

1-आयुर्वेद की आवश्यकता- कोविड-19 से बचाव में सबसे अच्छी चिकित्सा यही है क्योंकि इस महामारी की अभी तक कोई दवा नहीं बनी है इसलिए इस रोग से बचने के लिए शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का उपाय करना ही बेहतर है।

2-बेहतर जीवन शैली- सूर्योदय के 1 घंटा पूर्व उठकर नित्य कर्म करने,प्रातः शरीर की मालिश,15-20 मिनट सूर्य की किरणों का सेवन एवं 30 मिनट तक योगाभ्यास व व्यायाम,प्रतिदिन हल्के गुनगुने पानी से स्नान ऋतु आधारित मौसमी फल व पत्तेदार हरी सब्जियों का सेवन,शीतल पेय आइसक्रीम व अन्य शीतल पदार्थ के सेवन न करें।

3-रोग प्रतिरोधक क्षमता वृद्धि के स्थानीय सरल उपाय- नीम की 5-10 पत्तियों को प्रातः चबाकर सेवन करने,आंवला, हर्बल चाय,तुलसी पत्ती,काढ़ा जिसमें अदरक,काली मिर्च, अजवाइन का भी इस्तेमाल हो किया जाना चाहिए जो सर्दी जुकाम में फायदेमंद रहता है।हर्बल चाय का दिन में दो बार इस्तेमाल,गिलोय काढ़ा,सहिजन सब्जी,बेल का शरबत,पुदीना की शिकंजी,पूर्वी उत्तर प्रदेश में चावल माड़,मोटा अनाज,पश्चिमी उत्तर प्रदेश में यूकेलिप्टस पत्र पानी में उबालकर भाप लेना, ग्रीन टी का इस्तेमाल,मट्ठा का सेवन करने के बारे में बताया गया है जिससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

4-रोग प्रतिरोधक क्षमता वृद्धि के लिए आयुष मंत्रालय के उपाय-सुबह च्यवनप्राश लेने, तुलसी,काली मिर्च अदरक से बनी हर्बल टी दिन में दो बार पीने,गोल्डन मिल्क- दूध में हल्दी मिलाकर एक से दो बार पीने,खांसी या गले में खराश के लिए अजवाइन पानी में डालकर भाप लेने,खांसी या गले में खराश होने पर लौंग के चूर्ण में गुड़ या शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार लें,सूखी खांसी के लिए भी लाभदायक है।सामान्य चाय के बजाय तुलसी काढ़ा, अजवाइन काढ़ा,गिलोय काढ़ा का सेवन करें।नाक के दोनों छिद्रों में तिल या नारियल का तेल या घी लगाएं।दिन में एक से दो बार एक चम्मच तिल/ नारियल के तेल से कुल्ला करें उसे थूक कर गर्म पानी से कुल्ला करें।

5-कोविड-19 देखभाल-

हाथ मिलाने से परहेज,नाक मुंह अनावश्यक न छुए,बार बार साबुन से हाथ धोएं, सैनिटाइजर का इस्तेमाल, भीड़-भाड़ से बचें,हाथों से लेनदेन करने के बाद हाथ सैनिटाइज करें,एक से 2 मीटर फासले पर रह कर ही किसी से बात करें आदि बातें बताई गई।

6-हमारे विशेषज्ञ से पूछें- मरीज द्वारा बीमारी के बारे में पूछने पर डॉक्टरों के विशेषज्ञ पैनल द्वारा उसका इलाज बताने की बात कही गई है।

7-लाइव योग सत्र में-

रोज नए लाइव योगाभ्यास के बारे में

8-योग तथा ध्यान वीडियो गैलरी-

विभिन्न योगासन कैसे करना है उसका लाइव वीडियो करके बताया गया है।जैसे- अनुलोम प्रतिलोम, कपालभाति,प्राणायाम इत्यादि

9-यदि कोई व्यक्ति मुख्यमंत्री राहत कोष कोविड केयर फंड में योगदान करना चाहता है तो उसके लिए भी आयुष कवच में व्यवस्था दी गई है।

10-राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम के तहत मुख्यमंत्री हेल्पलाइन,स्वास्थ्य विभाग, आपदा नियंत्रण केंद्र के नंबर दिए गए हैं जिस पर फोन किया जा सकता है।

11-आयुष कोविड-19 योद्धा-विभिन्न जिले के सक्रिय योद्धाओं का नाम दिया गया जिसमें जौनपुर के 133 सक्रिय योद्धाओं का नाम है जिसमें जिले के विभिन्न मेडिकल अफसर, फार्मासिस्ट,स्टाफ नर्स,वार्ड ब्वॉय स्वीपर का नाम अंकित है।

महामारी से रोकथाम के लिए आरोग्य सेतु एप भी लांच किया गया है।इस ऐप का इस्तेमाल करने पर यदि संक्रमित व्यक्ति भी ऐप का इस्तेमाल किया है और दोनों एक दूसरे के ब्लूटूथ रेंज में आते हैं तो अलर्ट का मैसेज मोबाइल पर आता है।

सरकार के अलावा जिला प्रशासन ने दोनों ऐप डाउनलोड करने की जनपदवासियों से अपील किया है।जिला प्रशासन को चाहिए कि क्वॉरेंटाइन में रखे गए और कोरोना पीड़ित लोगों के मोबाइल में भी यह ऐप डाउनलोड करें जिससे अन्य उपयोगकर्ता के उनके निकट आने पर जानकारी हो सके।

करीब 1 हफ्ते से जनपद के सिटी स्टेशन के आसपास 500 मीटर दूरी पर,परमानतपुर से 1 किलोमीटर दूरी पर,जोगियापुर से 2 किलोमीटर की दूरी पर एक कोरोना पॉजिटिव उपयोगकर्ता आरोग्य सेतु एप में दिख रहा है जो अभी तक पुलिस व प्रशासन की पकड़ में नहीं आया है।शनिवार तक शहर से 10 किलोमीटर की रेंज में आरोग्य सेतु एप में 51,379 आरोग्य सेतु उपयोगकर्ता दिखे जिसमें 1431 ने स्व परीक्षण किया। 94 उपयोगकर्ता स्व परीक्षण से अस्वस्थ,6 उपयोगकर्ताओं की जोखिम में होने की ब्लूटूथ प्रॉक्सिमिटी से पहचान तथा एक कोविड-19 पाजिटिव उपयोगकर्ता दिखा।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Articles

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button