CrimeJaunpurUttar Pradesh

जौनपुर : बरखू राम को मौत के घाट उतारने वाला हिस्ट्रीशीटर 15 दिन पहले जेल से छूटा था ।

0 0
Read Time:1 Minute, 55 Second

जौनपुर।  नि:संतान बरखू राम यादव के हिस्से की जमीन-जायदाद ही उनकी हत्या का कारण बन गई। हत्यारोपित थाने का हिस्ट्रीशीटर पौत्र शातिर अपराधी राम सिंह यादव पर लूट, छिनैती, हत्या के प्रयास सहित कई संगीन मुकदमे दर्ज हैं। 15 दिन पहले ही वह जेल से छूटकर आया था।

मृत बरखू यादव (75) की पत्नी का भी एक वर्ष पूर्व निधन हो गया था। उन्होंने अपने साले की बेटी खुशबू को सेवा टहल के लिए अपने घर पर रखा था। उसकी शादी भी उन्होंने खुद की थी। लगभग दो माह पूर्व उन्होंने अपने हिस्से की भूमि में से दस बिस्वा खुशबू के नाम बैनामा कर दिया था। उनके हिस्से की भूमि पर भतीजों की नजरें गड़ी थी।

जमीन का बैनामा करने के बाद से भतीजे रमा शंकर यादव, श्याम बिहारी व बृज बिहारी उनसे नाराज चल रहे थे। इसी मामले को लेकर रमाशंकर के हिस्ट्रीशीटर पुत्र राम सिंह यादव ने अपने दो अन्य साथियों संग मिलकर गांव में सरेआम दादा बरखू राम यादव को मौत के घाट उतार दिया। गांव में चर्चा है कि जमानत पर जेल से छूटकर आने के बाद से ही राम सिंह यादव बरखू राम को ठिकाने लगने के लिए जुट गया था। तलाश में संभावित स्थानों पर दबिश दे रही पुलिस पास-पड़ोस के जिलों से भी राम सिंह यादव का आपराधिक रिकार्ड जुटा रही है।

खबरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें :-7800292090

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Articles

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button